Saturday, 29 October 2016










Friday, 29 July 2016

Listen to an Ad and Make Free Calls With This App

Listen to an Ad and Make Free Calls With This App

HIGHLIGHTS

  • Nanu lets you make free calls to landlines and mobiles
  • You earn free credits every day to pay for calls
  • You can get more credits by downloading other apps
There is no shortage of apps you can use to call other people in order to cut down on your phone bill, but most of them have a simple problem - they require both users to have the same app installed.
There are also a number of good apps that allow you to make voice calls for a fee, but these also come with some problems that can be solved, and if you're calling a telephone number, you're usually still paying some amount for the privilege.
Enter Nanu, a voice calling app that claims to use much less bandwidth than competing products, and comes with a feature that makes calls completely free.
The way it works is simple - Nanu gives you a few free credits every day, and you can use these to pay for phone calls. The credit it gives you is not very high, but you can also perform actions like downloading other apps to 'earn' more free credits. In practice, it's similar to apps that give you free recharges to pay for mobile data, but obviously in this case the credit can only be used with Nanu.
Thankfully, the Nanu app itself is nicely laid out, easy to use, and the call quality is good too, so it isn't a big issue. Users can call any landline or mobile number using the free credits provided by the app.
The catch is that the free credits don't carry forward from one day to the next - so, for example, you can't build a stockpile of free credits over the week to blow up in an hours-long call to the US on the weekend.
The interface of the app is pretty simple - when you launch the app, you'll see recent calls, and you can enter Nanu's dialer to call anyone. You'll see the credit balance and how many minutes of talktime this works out to, directly from the dialer.
Through the menu, you can see the free credit, and you can go to the Free Credits menu to earn more credits. For example, downloading the Amazon app got us five free credits, while playing a Web game was worth 49 free credits.
Testing the app across 2G, 3G, and 4G networks, the call quality remained extremely clear. Even on 2G connections, you could hear the other person very clearly. Nanu claims that it uses 80 percent less data than other VoIP platforms such as Skype and Viber.
The company states that Nanu uses 105kb of data per minute, and when you call someone, you'll also listen to an ad while waiting for the other person to pick up the call. Calling within India costs you 2 credits per minute, and you can look up the rates for other numbers.
Thanks to ad-supported calls and daily credits, Nanu offers actual free calling around the world. That's not a bad deal, and it works on both iOS and Android, so it may be worth your while to check out the free app. The worst thing you'll have to deal with is a few ads.

Wednesday, 29 June 2016

7वें वेतन आयोग की सिफारिशें कैबनेट ने मंजूर की, 23 प्रतिशत से अधिक होगी कर्मचारियों की वेतन वृद्धि





7वें वेतन आयोग की सिफारिशें कैबनेट ने मंजूर की, 23 प्रतिशत से अधिक होगी कर्मचारियों की वेतन वृद्धि
7वें वेतन आयोग पर मोदी कैबिनेट की बैठक आज (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. नई सैलरी 1 जनवरी से 2016 से लागू, एरियर मिलेगा
  2. 1 करोड़ से ज्यादा सरकारी कर्मचारियों-पेंशनधारियों को फायदा
  3. आयोग की सिफारिशों से ज्यादा वेतनमान देने को मंजूरी
नई दिल्ली: मोदी कैबिनेट की आज हुई एक अहम बैठक में 7वें वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू करने का फैसला लिया गया है।  सूत्रों के अनुसार, कैबिनेट ने सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों से ज्यादा वेतनमान देने की मंजूरी दी है। वहीं एक बीजेपी प्रवक्ता की मानें तो कर्मचारियों को 23 फीसदी से अधिक की वेतन वृद्धि मिलने जा रही है।

आज शाम 5.30 बजे वित्तमंत्री अरुण जेटली इस बारे में औपचारिक रूप से बयान देंगे। जेटली ने एक बयान देकर सरकारी कर्मचारिओं और अफसरों को बधाई दी है। उन्होंने इस बढ़ोतरी को ऐतिहासिक करार दिया है।

एक अधिकारी ने कहा कि ग्रेडेड इंक्रीज इन बेसिक सैलरी पर कैबिनेट ने चर्चा की है। ऐसा माना जा रहा है कि अधिकतर लोगों के लिए 20 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। कुछ पदों पर 25 फीसदी की बढ़ोतरी पर चर्चा हुई है।

मिली जानकारी के अनुसार, यह बढ़ा वेतनमान 1 जनवरी 2016 से लागू होगा। अब करीब 15-25 दिनों में सभी विभाग अपने अपने कर्मचारियों के वेतनमान तय कर लेंगे और कहा जा रहा है कि जुलाई में मिलने वाले वेतन में पूरा एरियर और बढ़ा वेतन दे दिया जाएगा।

बीजेपी प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने एक ट्वीट कर जानकारी दी है कि सरकारी कर्मचारी को 23 प्रतिशत से अधिक सैलरी की वृद्धि मिलेगी।
वेतन वृद्धि के ऐलान के बाद 50 लाख सरकारी कर्मचारी और 58 लाख पेंशनधारियों के हाथों में ज्यादा पैसा आएगा। कहा जा रहा है कि इस वेतन वृद्धि से रीयल एस्टेट सेक्टर और ऑटोमोबाइल सेक्टर में उछाल आएगा।

आरबीआई ने एक आकलन में अप्रैल में कहा था कि अगर आयोग की रिपोर्ट को ऐसे ही लागू किया गया तो 1.5 फीसदी महंगाई बढ़ जाएगी। वैसे कैबिनेट बैठक में शॉप एंड एस्टैब्लिसमैंट बिल पर चर्चा हुई है। (सातवें वेतन आयोग पर रवीश कुमार का ब्लॉग : सैलरी बढ़ने को तर्कबुद्धि और तथ्यबुद्धि से देखिए... )

इस बढ़े वेतनमान का फायदा 1 करोड़ से ज्यादा सरकारी कर्मचारियों और पेंशनधारियों को मिलेगा। इससे पहले सातवें वेतन आयोग ने अपनी रिपोर्ट में सरकारी कर्मचारियों की बेसिक सैलरी में 14.27 फीसदी बढ़ोत्तरी की सिफारिश की थी। (7वें वेतन आयोग की रिपोर्ट का वह सुझाव जिस पर कई कर्मचारियों को होगी आपत्ति!) 

साथ ही आयोग ने एंट्री लेवल सैलरी 7,000 रुपये प्रति महीने से बढ़ाकर 18,000 रुपये प्रति महीने करने का प्रस्ताव सरकार के सामने रखा। (केंद्रीय कर्मचारियों को 7वें वेतन आयोग का लाभ होगा, पढ़ें - क्या थीं आयोग की सिफारिशें)

इनकी बढ़ेगी सैलरी
-सातवें वेतन आयोग ने अपनी रिपोर्ट में सरकारी कर्मचारियों की बेसिक सैलरी में 14.27 फीसदी बढ़ोत्तरी की सिफारिश की थी।
-माना जा रहा है कि कैबिनेट बैसिक सैलरी में 18 से 20 फीसदी तक की बढ़ोत्तरी के प्रस्ताव को मंजूरी दे सकती है।
-इसका फायदा 50 लाख सरकारी कर्मचारियों और 58 लाख पेंशनधारियों को मिलेगा।
-नई सैलरी 1 जनवरी 2016 से लागू होगी, यानी सरकारी कर्मचारियों को छह महीने का एरियर मिलेगा।
-कैबिनेट तय करेगी कि एरियर एक मुश्त दिया जाए या किश्तों में दिया जाए।
-सातवें वेतन आयोग ने इंट्री लेवल सैलरी 7,000 रू प्रति महीने से बढ़ाकर 18,000 रुपये प्रति महीने करने के प्रस्ताव सरकार के सामने रखा।
-कैबिनेट सचिव की मौजूदा सैलरी 90,000 से बढ़ाकर 2.50 लाख रुपये करने की सिफारिश की है।


1 जनवरी 2016 से लागू होंगी सिफारिशें
छठा वेतन आयोग 1 जनवरी, 2006 से लागू हुआ था और उम्मीद है कि सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें 1 जनवरी, 2016 से लागू होंगी और कर्मचारियों को एरियर दिया जाएगा। आमतौर पर राज्यों द्वारा भी कुछ संशोधनों के साथ इन्हें अपनाया जाता है। कहा जा रहा है कि नए वेतन ढांचे में सातवें वेतन आयोग ने छठे वेतन आयोग द्वारा शुरू की गई 'पे ग्रेड' व्यवस्था खत्म कर इसे वेतन के मैट्रिक्स (ढांचे) में शामिल कर दिया है और कर्मचारी का ओहदा अब ग्रेड पे की जगह नए ढांचे के वेतन से तय होगा।


सलाना 3% वेतन बढ़ाने की सिफारिश
वित्त मंत्री अरुण जेटली को सौंपी गई वेतन आयोग की रिपोर्ट में मौजूदा कर्मचारियों के मूल वेतन में 16%, भत्तों में 63% और पेंशन में 24% इजाफे की सिफारिश की गई है। न्यायमूर्ति एके माथुर की अगुवाई वाले इस सातवें वेतन आयोग ने सरकारी कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन 18 हजार और अधिकतम 2.50 लाख रुपये तय करने की सिफारिश की है। इसके अलावा आयोग ने केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में सालाना तीन फीसदी वृद्धि की भी सिफारिश की है।


सरकारी खजाने पर सलाना 1.02 लाख करोड़ का बोझ
आयोग की सिफारिशें जस की तस लागू करने पर सरकारी खजाने पर 1.02 लाख करोड़ रुपये का सालाना बोझ आएगा, जिसमें 28,450 करोड़ रुपये से अधिक का बोझ रेलवे बजट और बाकी 73,650 करोड़ रुपये आम बजट पर जाएगा।